सोनभद्र  -ब्रह्मोरी बालू साइड पर खूनी संघर्ष, जली कई गाड़ियां एवं चली गोलियां!

खेल

सोनभद्र  -ब्रह्मोरी बालू साइड पर खूनी संघर्ष, जली कई गाड़ियां एवं चली गोलियां!

एक सफारी , एक स्कार्पियो , एक आल्टो , 4 बाइक जली और 5 बाइक में तोड़फोड़ 

रॉबर्ट्सगंज सोनभद्र

सोनभद्र -अवैध खनन की राजधानी बन चुकी सोनभद्र इन दिनों बोल रहा सिर चढ़कर!
कोन थाना क्षेत्र  के अंतर्गत बरहमोरी बालू साइड पर रास्ते और रोजगार को लेकर आज खनन माफियाओं और ग्रामीणों में जमकर संघर्ष हुआ जिसमे जहां एक ग्रामीण को पैर में गोली लग गयी इसके बाद भी मौके पर खनन कर्ताओ की धमकी के बावजूद कोई कार्यवाही होती न देख ग्रामीणों ने खुद मोर्चा खोल दिया। इस दौरान अज्ञात परिस्थितियों मे बालू साइड के लोगो के एक सफारी , एक स्कार्पियो , एक आल्टो , 4 बाइक जली और 5 बाइक में तोड़फोड़ हुई है। इसके बाद वहां मौजूद खनन कर्ताओ के कर्मियों ने अपने अस्थायी दफ्तर में छिपकर फायरिंग शुरू कर दी। ग्रामीणों का कहना है कि रास्ते से ट्रको के आवागमन को लेकर कई बार ठेकेदारों के बीच वाद विवाद हुआ है कल रात में कुछ लोगो को मारपीट दिया गया यहां तक कि ठेकेदार खुद गाड़ियों में आग लगा रहे है और गोली मारने की धमकी भी दे रहे है। वही भाजपा के नेताओ का कहना है कि जिले में अवैध खनन की शिकायत मिलने के बावजूद भी जिला प्रशासन कोई कार्रवाई नही कर रहा है। बल्कि जिला प्रशासन सरकार को बदनाम करने के लिए अधिकारीयो का सिंडिकेट बनाकर काम कर रहे है। मुख्यमंत्री का स्पष्ट कहना है कि प्रदेश में अवैध खनन , गरीबो , मजदूरों का शोषण कत्तई बर्दाश्त नही किया जाएगा चाहे भले ही वह बीजेपी का सांसद या विधायक एवं कोई भी हो। आज हुयी कोन क्षेत्र की ब्रह्मोरी बालू खनन साइड की घटना सिर चढ़ कर बोल रही है।सोनभद्र में कोन थाना इलाके के बरहमोरी बालू साइड पर ग्रामीणों और ठेकेदार के लोगो के बीच रास्ते और स्थानीय लोगो के रोजगार को लेकर विवाद चल रहा था जिसमे जिला प्रशासन की उदासीनता के कारण आज बड़ी घटना सामने आई है। ग्रामीणों ने बताया कि मंगलवार की शाम ग्रामीणों के खेत से होकर बालू की गाड़ियों के गुजरने को लेकर स्थानीय ग्रामीणों और खननकर्ताओं में कहासुनी हो चुकी थी जिसके बाद बुद्धवार की सुबह से ही ग्रामीणों ने अपने खेत से होकर जाने वाले रास्ते को अवरुद्ध कर प्रदर्शन शुरू कर दिया था । मौके पर पुलिस बल कम होने के कारण पुलिस भी आगे नहीं बढ़ पा रही थी कि इसी बीच बालू खनन कर्ताओ के कर्मियों व ग्रामीणों में वाद विवाद बढ़ने लगा जिस पर वहां कथित रूप से मौजूद प्रताप सिंह व उसके लोगो द्वारा ग्रामीणों को गोली मारने की धमकी दी जाने लगी जिससे ग्रामीण उत्तेजित हो गये इसी बीच एक स्थानीय ग्रामीण विजय को पैर में गोली मार दी गयी जिसके बाद वहां मौजूद ठेकेदार की गाड़ियों और एक ट्रक में आग लग गयी। मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने बताया कि ठेकेदारों ने ही गोली चलाई और गाड़ियों में आग लगाई। इस घटना पर भाजपा नेता का कहना है कि जिले में बराबर अवैध खनन की शिकायत मिलने के बाद भी जिला प्रशासन कोई कार्रवाई नही कर रहा है। यहां तक की घोरवाल एसडीएम ने कुडारी के पास अवैध खनन की पुष्टि कर दिया इसके बावजूद भी खान अधिकारी के द्वारा कोई कार्रवाई नही किया गया। जिले में खनन करने वाले ने सोन नदी पर अस्थायी पुल बनाकर खनन कर रहे है फिर भी जिला प्रशासन कुछ कर नही पा रहा है। सूबे के मुख्यमंत्री ने स्पष्ट कहा कि प्रदेश में अवैध खनन किसी भी कीमत पर नही होना चाहिए ठेकेदार द्वारा अगर ग्रामीण मजदूरों का शोषण किया जा रहा है।चाहे वो भले ही वह सांसद एवं विधायक के लोग है तो यह बर्दाश्त नही किया जाएगा। स्थानीय मजदूरों को रोजगार और रास्ता दोनों मिलना चाहिए और इस पर जिला प्रशासन को कड़ी कार्रवाई करना चाहिए। बहर हाल घटना क्या है इस विषय पर अभी तक अधिकारी पुष्टि नहीं हो पायी है।

ब्यूरो रिपोर्ट मुकेश उर्फ शक्ति पाल रॉबर्ट्सगंज सोनभद्र


Comment






Total No. of Comments: